इन चार दिग्गज खिलाड़ियों को नहीं मिली टीम में जगह?

इन चार दिग्गज खिलाड़ियों को नहीं मिली टीम में जगह?

नई दिल्ली:  आप को बता दे कि रोहित शर्मा की अगुवाई में भारतीय एशिया कप में खेलने के बाद अब ऑस्ट्रेलिया में T20 वर्ल्ड कप खेलने के लिए जा रही है। एशिया कप में भारतीय क्रिकेट टीम का प्रदर्शन बेहद ही खराब रहा है। जिसमें भारतीय टीम को सुपर 4 में पाकिस्तान और श्रीलंका के हाथों हार का सामना करना पड़ा था।

भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए 15 सदस्य टीम का चयन हो चुका है और इसी के साथ साथ इसमें चार स्टैंडबाई खिलाड़ियों को भी चुना गया है। टीम के इस सिलेक्शन पर क्रिकेट के दिग्गज कई बड़े सवाल खड़े कर रहे हैं। टीम इंडिया के इस सिलेक्शन पर अगर नजर डालें तो कई सवाल खड़े होते हैं। जो टीम इंडिया को परेशानी में डाल सकते हैं। तो आइए जानते हैं इस 15 सदस्य टीम में किन-किन खिलाड़ियों को चुना गया और कौन सी वह बाते हैं? जो टीम इंडिया के सिलेक्शन पर सवाल उठाते हैं।

15 सदस्य टीम के खिलाड़ी

जहां एक तरफ टीम में कप्तान रोहित शर्मा, केएल राहुल, विराट कोहली, सूर्यकुमार यादव,ऋषभ पंत,हार्दिक पांड्या, हर्षल पटेल, अर्शदीप सिंह, जसप्रीत बुमराह, दीपक हुड्डा, रविचंद्र अश्विन, दिनेश कार्तिक, यूज़वेंद्र चहल, अक्षर पटेल और भुवनेश्वर कुमार को 15 सदस्य टीम में जगह दी गई है जबकि 4 एक्स्ट्रा खिलाड़ियों को भी इस टीम में चुना गया है।

4 एक्स्ट्रा खिलाड़ी इस प्रकार हैं

मोहम्मद शमी, श्रेयस अय्यर, रवि बिश्नोई और दीपक शहर को भी ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए ले जाया जा रहा है।

1- सवाल- बैकअप ओपनर

टीम में बैकअप ओपनर के तौर पर ना ईशान किशन और ना ही संजू सैमसन को चुना गया है। एशिया कप में रोहित शर्मा और केएल राहुल ने भारत की तरफ से ओपनिंग की थी लेकिन एशिया कप के कई मैचों में और राहुल का प्रदर्शन कोई खास अच्छा नहीं रहा। इसके साथ साथ भारतीय टीम ऋषभ पंत एवम दीपक हुड्डा को भी ओपनिंग का मौका दे चुकी है लेकिन इन पर कोई खास भरोसा नहीं जताया जा सकता। ओपनिंग के लिए एशिया कप में भारत की तरफ से राहुल के साथ अफगानिस्तान वाले मैच में विराट कोहली ने भी ओपनिंग की थी जबकि विराट कोहली को नंबर 3 का बेहतर बल्लेबाज माना जाता है।

अब अगर ऋषभ पंत से ओपनिंग कराई जाती है तो मिडिल ऑर्डर में कोई बाएं हाथ का बल्लेबाज नहीं रह जाएगा। सूर्यकुमार यादव मध्यक्रम के एक अहम बल्लेबाज हैं। अगर इनसे ओपनिंग कराई जाती है। तो मध्यक्रम में दूसरा कोई अच्छा बल्लेबाज नहीं है। इसलिए बैकअप ओपनर के तौर पर ईशान किशन और संजू सैमसंग को ना लेना टीम के सिलेक्शन पर एक गंभीर सवाल खड़ा करता है।

ये भी पढ़ें  रोहित शर्मा और राहुल द्रविड़ को मिली वार्निंग, टीम इंडिया ने कर दिया बड़ा ब्लंडर, गावस्कर ने कही बड़ी बात है

2- सवाल- स्पेशल विकेट कीपर

हालांकि भारतीय टीम में तीन विकेट कीपर केएल राहुल, ऋषभ पंत और दिनेश कार्तिक को चुना गया है। लेकिन इसमें कौन स्पेशल विकेटकीपिंग करेगा।उसका भी क्लियर नहीं है क्योंकि केएल राहुल को ओपनर के तौर पर टीम में शामिल किया गया है। जबकि अगर ऋषभ पंत से ओपनिंग कराई जाती है।

तो दिनेश कार्तिक को विकेटकीपिंग करनी होगी और मैच फिनिशर के तौर पर दिनेश कार्तिक एवं दीपक हुड्डा को टीम में शामिल किया गया है। दीपक हुड्डा और रविचंद्र अश्विन का प्रोफाइल एक जैसा ही है इनमें से किसको फिनिशर के तौर पर शामिल किया जाएगा और किसको स्पेशल विकेटकीपिंग के तौर पर इस्तेमाल किया जाएगा। यह भी एक बड़ा सवाल है।

3- सवाल- मुख्य टीम में मो. शमी की जगह नहीं

जी हां मोहम्मद शमी को मुख्य टीम में शामिल नहीं किया गया है। बीते एशिया कप में भारत के गेंदबाजों का लचर प्रदर्शन किसी से ढका छुपा नहीं है इसमें भुवनेश्वर कुमार ने अपने पहले मैच में पाकिस्तान एवम अफ़गानिस्तान के खिलाफ अच्छी गेंदबाजी की लेकिन और बाकी के सभी मैचों में भुवनेश्वर कुमार लाचार और बेबस नजर आए।जबकि मोहम्मद शमी पिछले मैचों में अपना शानदार प्रदर्शन दिखा चुके हैं। क्या भुवनेश्वर कुमार ऑस्ट्रेलिया की तेज की पिचों पर कारगर साबित होंगे? इसके बाद भी मोहम्मद शमी को इंटरनेशनल क्रिकेट का अच्छा अनुभव होने के बाद मुख्य टीम में जगह न देना भारतीय टीम के सलेक्शन पर एक गंभीर सवाल खड़ा करता है।

4- सवाल – ईशान, संजू और सार्दुल ठाकुर के साथ ना- इंसाफी क्यों?

यह सवाल भी बहुत से क्रिकेट फैंस के दिमाग में है कि संजू सैमसन और विकेटकीपर बल्लेबाज इशान किशन मौका क्यों नहीं दिया गया। हालांकि सलेक्शन से पहले यह अंदाजा लगाया जा रहा था कि ईशान किशन को T20 वर्ल्ड कप के लिए जरूर चुना जाएगा। संजू सैमसन को टीम का हिस्सा नहीं बनाया गया। इससे पहले संजू को कुछ मैचों में मौके तो मिले लेकिन वह मौके ऐसे नहीं थे कि जिससे उनके ऊपर कोई विश्वास जताया जा सके शार्दुल ठाकुर टीम में एक ऑल राउंडर का किरदार निभाते हैं लेकिन फिर भी उनको नजरअंदाज कर दिया गया यह भी टीम सिलेक्शन पर एक बड़ा सवाल है।