सूर्य और अक्सर पटेल पर हुई पैसो की बारिश, इतनी बड़ी रकम मिली

सूर्य और अक्सर पटेल पर हुई पैसो की बारिश, इतनी बड़ी रकम मिली

नई दिल्ली: भारत ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरा टी-20 जीत चुका था। सूर्यकुमार यादव को मैन ऑफ द मैच चुन लिया गया था। इसके बाद सूर्या फोटो सेशन के लिए मैदान पर मौजूद थे। तभी दर्शकों की निगाह उनके हवाई चप्पल पर टिक गई। भारत को 9 साल बाद घर में कंगारुओं के खिलाफ टी-20 सीरीज जिताने वाले बल्लेबाज को रत्ती भर घमंड ने नहीं हुआ था। वह दूसरे खिलाड़ी के साथ तस्वीरें क्लिक करा रहे थे और मारे खुशी के मुस्कुरा रहे थे।

दरअसल सूर्या पर बड़े मुकाबलों में भरोसा करने से कई पूर्व खिलाड़ी कतरा रहे थे। उसे कमजोर टीमों के खिलाफ मजबूत प्रदर्शन करने वाला खिलाड़ी बता रहे थे। ऐसे में डिसाइडर तीसरे टी-20 में सूर्या ने 36 गेंदों पर 191 की स्ट्राइक रेट से 69 रन बनाकर अपने आलोचकों को लाजवाब कर दिया। ताबड़तोड़ पारी में 5 चौके और 5 छक्के जड़कर विरोधियों का पूरा हिसाब कर दिया।

सूर्या ने बता दिया कि इंटरनेशनल मुकाबलों में वह सिर्फ हांगकांग के खिलाफ रन नहीं मारते हैं बल्कि वर्ल्ड चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को भी अपनी बैटिंग से पछाड़ते हैं। मुकाबला बड़ा था और कंगारू गेंदबाजी लय में नजर आ रही थी। चौथे ओवर की चौथी गेंद और 30 के स्कोर पर दोनों ओपनर पवेलियन लौट गए थे। उस ओवर की अंतिम गेंद पैट कमिंस ने आउटसाइड ऑफ बैक ऑफ द हैंड डाली। एक्स्ट्रा कवर की दिशा में करारा चौका। सूर्या ने बाउंड्री से खाता खोल लिया था।

इसके बाद 8वें ओवर में पहले स्लॉग स्वीप और फिर कट शॉट के सहारे मैक्सवेल के खिलाफ सूर्या ने लगातार 2 चौके हासिल किए। 11वें ओवर की आखिरी गेंद पर रन रेट बढ़ाने की दरकार थी और कमिंस की बैक ऑफ द हैंड डिलीवरी को सूर्या ने मिडविकेट के ऊपर से छक्के के लिए भेज दिया। 13वें ओवर की चौथी गेंद पर क्रीज से आगे निकलकर जैम्पा को लॉन्गऑन उनके ऊपर से सिक्सर। इस दिलेरी से अर्धशतक पूरा करने के बाद हैदराबाद का पूरा स्टेडियम सूर्या के शोर से गूंज उठा। अगली ही गेंद पर लॉफ्टेड कवर ड्राइव के जरिए छक्का हासिल कर सूर्या ने दर्शकों को रिटर्न गिफ्ट दे दिया।

ये भी पढ़ें  एशिया कप 2022 में भारत-पाकिस्तान के मैच को लेकर आई बड़ी खबर

फिर हेजलवुड को 14वें ओवर की पहली गेंद पर चौका और तीसरी गेंद पर छक्का जड़ने के बाद ओवर की आखिरी गेंद स्लॉट में होने के बावजूद सूर्या लॉन्गऑफ के हाथ में खेल बैठे। मैच ना फिनिश कर पाने की निराशा में वह वापस लौट रहे थे लेकिन दर्शक समझ रहे थे कि सूर्या ने मैच बना दिया है। रात में भी स्टेडियम सूर्या की रोशनी से जगमगा रहा था। फैंस की चीखें बता रही थी कि इंडिया का मिस्टर 360 डिग्री प्लेयर अपना काम पूरा करके वापस आ रहा था।