पंत की धमाकेदार पारी से उड़े होश, ताने देने वालो की बोलती बंद

पंत की धमाकेदार पारी से उड़े होश, ताने देने वालो की बोलती बंद

Ind vs Bangladesh: बांग्लादेश के खिलाफ दूसरे टेस्ट में पंत के धमाकेदार 93 रन। वह शतक से जरूर चूक गए लेकिन कई दिल जीत गए। वाइट बॉल क्रिकेट में जो भी हो, लेकिन रेड बॉल क्रिकेट में ऋषभ पंत फिलहाल भारत के नंबर वन विकेटकीपर बल्लेबाज हैं। 105 गेंद… 93 रन… 7 चौके और 5 छक्के…! शेर-ए-बांग्ला स्टेडियम, ढाका में बांग्लादेश के खिलाफ मुश्किल हालात में दमदार पारी खेलकर पंत ने फिर एक दफा भरोसे को सही साबित कर दिखाया।

दूसरे दिन का खेल शुरू हुआ और भारतीय टीम को लगातार झटके लगने लगे। 10 रन बनाकर कप्तान के एल राहुल लौटे, तो 20 रन बनाकर शुभमन गिल भी चल दिए। 38 रन के स्कोर पर 2 विकेट गंवा चुकी टीम इंडिया को दीवार पुजारा से सहारे की उम्मीद थी लेकिन वह भी 55 बॉल पर 24 रन बनाकर तैजुल इस्लाम का शिकार बन गए।

लंच के बाद पहला ओवर और तस्कीन के 38वें ओवर की चौथी गेंद…! ऑफ स्टंप के बाहर अनिश्चितता वाली गली और उसपर से बॉल टप्पा खाने के बाद हल्की सीधी हो गई। 24 पर खेल रहे विराट कोहली के बल्ले का किनारा सीधा विकेटकीपर के हाथों में। 94 के स्कोर पर भारत को चौथा झटका लग चुका था और भारत-बांग्लादेश से पहली पारी के आधार पर अभी भी 133 रन पीछे था।

यहां से भारतीय टीम की तरफ से मोर्चा संभाला ऋषभ पंत ने। मेहदी हसन मिराज के 39वें ओवर की दूसरी गेंद। इस वाइडिश ऑफ ब्रेक को पंत ने हार्ड हैंड से खेला और गेंद सीधा बैकवर्ड पॉइंट बाउंड्री के बाहर 4 रनों के लिए।

पंत अच्छे टच में नजर आ रहे थे और 45वें ओवर में इसका खामियाजा भुगता खालेद अहमद ने। चौथी गेंद ऑफ स्टंप के बाहर लेकिन काफी ज्यादा फुलर लेंथ की। बॉटम हैंड के सहारे वाइड ऑफ मिड ऑन की दिशा में ताकतवर चौका। पांचवीं गेंद बैक ऑफ लेंथ आउटसाइड ऑफ…! पॉइंट की दिशा से खूबसूरत चौका। शाकिब अल हसन के 47वें ओवर की पहली गेंद स्पिन जरूर हुई लेकिन डाउन द लेग चली गई।

पंत जैसे बल्लेबाज के लिए ईजी पिकिंग। आसान चौका….! अंग्रेज लेफ्ट आर्म स्पिनर जैक लीच को पता है कि लेफ्ट आर्म स्पिनर के खिलाफ पंत का बल्ला कितनी शिद्दत से आग उगलता है। इंग्लैंड की सरजमीं पर जिस तरह पंत ने लीच की कुटाई की थी, वह आज भी क्रिकेट प्रेमियों के दिलो-दिमाग में ताजा है। लेफ्ट आर्म स्पिनर तैजुल इस्लाम के 48वें ओवर की दूसरी गेंद और स्लॉग स्वीप पर ऋषभ पंत का धमाकेदार छक्का। अगली गेंद को लेग साइड में ढकेल कर पंत ने 2 रन हासिल किए और भारत को संकट से निकालने वाला अर्धशतक पूरा कर लिया।

ये भी पढ़ें  साउथ अफ्रीका दौरे से पहले पुजारा का बड़ा बयान कहा हम निबटने..

लगातार चौके जड़ रहे ऋषभ पंत अब छक्के मारने के मूड में आ चुके थे। 51वें ओवर की तीसरी गेंद पर शाकिब के खिलाफ पंत डाउन द ट्रैक आए और लॉन्गऑन के ऊपर से विशालकाय छक्का उड़ा दिया। 53वें ओवर की तीसरी गेंद पर मेहदी हसन मिराज के खिलाफ भी ऋषभ पंत डाउन द ट्रैक आ गए। अगेंस्ट द स्पिन गेंद को लॉन्गऑन के ऊपर से लॉफ्ट कर दिया।

एक और छक्का उनके खाते में जुड़ गया। दरअसल फील्डर मुशफिकुर रहीम कनफ्यूज हो गए कि कैच लिया जाए या गेंद को हाथ से उछाल कर खेल में वापस भेजा जाए। वह ना यही कर सके और ना वही कर सके। कुलमिलाकर इस चक्कर में उन्होंने छक्का दे दिया।

57वें ओवर की चौथी बॉल पर तैजुल इस्लाम की गेंद को मिडविकेट के ऊपर से चौके के लिए खेलकर पंत ने श्रेयस के साथ अपनी शतकीय साझेदारी पूरी कर ली। इसी ओवर की अंतिम गेंद पर तैजुल के खिलाफ पंत ने गेंद की पिच तक पहुंचने के लिए कदमों का इस्तेमाल किया और गेंद को लॉन्गऑन के ऊपर से खेल दिया। 58वें ओवर की अंतिम गेंद और मेहदी हसन मिराज के खिलाफ भी पंत डाउन द ट्रैक आ गए।

लॉन्गऑन के ऊपर से गेंद को लॉन्च करने के दौरान उनका हाथ जरूर हैंडल से छूट गया लेकिन गेंद 100 मीटर के छक्के के लिए सीमा रेखा पार चली गई। अबतक के मुकाबले का सबसे लंबा छक्का।

63वें ओवर में गेंदबाज खालेद लगातार पंत को शॉर्ट पिच गेंद डाल रहे थे। ऐसा करके वह उनके सब्र का इम्तिहान ले रहे थे। पंत ने पूरी सतर्कता के साथ खेलते हुए अंतिम गेंद को मिडविकेट के ऊपर से पुल कर दिया और चौके के साथ 90* रनों पर पहुंच गए। ऋषभ पंत तेजी से रन बटोर रहे थे और लगातार विपक्षी गेंदबाजों को परेशान करने में कोई कोर कसर बाकी नहीं छोड़ रहे थे। लग रहा था कि शतक हर हाल में पूरा होगा लेकिन तभी दुर्घटना हो गई। मेहदी हसन के 68वें ओवर की पांचवीं गेंद टॉस्ड अप डिलीवरी आउटसाइड ऑफ थी।

बल्ले का महीन किनारा और गेंद विकेटकीपर के दस्तानों में। श्रेयस अय्यर के साथ 159 रनों की साझेदारी टूट गई और ऋषभ पंत छठी दफा टेस्ट क्रिकेट में नाइनटीज के स्कोर में आउट हो गए। आक्रामक 93 रन बनाकर पंत जरूर वापस लौट गए लेकिन उन्होंने टीम इंडिया को बांग्लादेश के 227 रनों के पार पहुंचा दिया। वेल प्लेड…!