बिहार में जल्द किसी बड़ी सियासी उठापटक की संभावना

बिहार में जल्द किसी बड़ी सियासी उठापटक की संभावना

पटना। बिहार में तेजी से बदलती राजनीति के बीच राष्ट्रीय जनता दल नेता तेजस्वी यादव के नेतृत्व में आज पटना में बेरोज़गारी यात्रा के ज़रिये सरकार को चुनौती पेश की। इस बीच खबर आ रही है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपनी पार्टी के सांसद विधायकों की बैठक बुलाई है। दूसरी तरफ हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने भी अपने पार्टी नेताओं की बैठक बुलाई है।

बिहार में जदयू के पूर्व वरिष्ठ नेता आरसीपी सिंह के इस्तीफा देने के बाद माना जा रहा है कि कुछ और जदयू नेता अपना इस्तीफा पेश कर सकते हैं। ऐसे में जनता दल यूनाइटेड के सामने पार्टी को एकजुट रखने की बड़ी चुनौती पैदा हो गई है।

दूसरी तरफ राजद नेता तेजस्वी यादव की बेरोज़गारी यात्रा करके राज्य और केंद्र सरकार की असफलताओं को जनता के समक्ष रखा। बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने आज इस यात्रा को हरी झंडी दिखा कर रवाना किया।

बढ़ती बेरोज़गारी के खिलाफ जनजागरण के लिए तेजस्वी यादव पटना की सड़को पर निकले तो उनके साथ उनके भाई तेज प्रताप भी मौजूद थे। माना जा रहा है कि राज्य में सत्तारूढ़ जनता दल यूनाइटेड और बीजेपी के बीच की खाई और गहरी हो चुकी है। इसके अलावा जनता दल यूनाइटेड के अंदर भी विधायकों के बीच खिचड़ी पक रही है।

ऐसे में देखना है कि कल से शुरु हो रहे आगामी सप्ताह में जनता दल यूनाइटेड के और कौन से नेता बागी के तौर पर उभर कर सामने आते हैं। हालांकि बीजेपी से रिश्तो को लेकर जनता दल यूनाइटेड ने एक बार फिर साफ़ किया है कि वह केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल नहीं होगा लेकिन उसके बीजेपी से रिश्ते मधुर हैं।

ये भी पढ़ें  शरद यादव के परिवार से मिलने पहुंचे राहुल गांधी, कहा 'उनसे बहुत कुछ सीखा' वीडियो