पाकिस्तान में कराची का नेशनल स्टेडियम। रात के 8:00 बज चुके थे और 34,000 दर्शक इंग्लैंड के हाथों…

पाकिस्तान में कराची का नेशनल स्टेडियम। रात के 8:00 बज चुके थे और 34,000 दर्शक इंग्लैंड के हाथों…

इस्लामाबाद: पाकिस्तान में कराची का नेशनल स्टेडियम। रात के 8:00 बज चुके थे और 34,000 दर्शक इंग्लैंड के हाथों पहले टी-20 में मिली हार का बदला चुकाने को बेताब थे। टॉस इंग्लैंड ने जीता और पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। भारत के बुमराह की तरह पाकिस्तानी शाहीन शाह अफरीदी चोटिल हैं, नतीजा शुरू से ही कुटाई चालू हो गई। पर पावरप्ले का छठा ओवर चमत्कारी रहा। तेज गेंदबाज शाहनवाज दहानी ने पहली गेंद पर एलेक्स हेल्स और दूसरी गेंद पर डेविड मलान को बोल्ड कर दिया। ये वही दहानी हैं, जो महेंद्र सिंह धोनी के जबरा फैन हैं। दो बार लगातार डंडे पर लगती गेंद देखकर कराची स्टेडियम में उत्सव शुरू हो गया।

हालांकि इसके बाद इंग्लैंड दोबारा पटरी पर लौट आया। इंग्लिश कैप्टन मोईन अली ने तो मानो पाकिस्तानी गेंदबाजी का जैसे धागा खोल दिया। 23 गेंदों पर 239 की स्ट्राइक रेट से 4 चौके और 4 गगनचुंबी छक्कों की मदद से नाबाद 55 रन। पारी की आखिरी गेंद पर मोहम्मद हसनैन के खिलाफ डीप मिडविकेट के ऊपर से फ्लैट सिक्स और मोईन का पचासा पूरा। कुल मिलाकर पूरे के पूरे 200 रनों का टारगेट पाकिस्तान के सामने था। आलोचक शुरू हो गए कि बाबर आजम को ओपनिंग नहीं करना चाहिए। वह बहुत धीमा खेलता है। इसलिए पाकिस्तान क्रिकेट लीग में हम लोग उसको आउट भी नहीं करते हैं। ऐसे में सारा प्रेशर बाबर के ऊपर था। कहते हैं ना कि दबाव में कमजोर टूट कर बिखर जाते हैं लेकिन योद्धा निखर कर आते हैं।

रिजवान ने चिर-परिचित अंदाज में पारी की दूसरी बॉल पर बाउंड्री से खाता खोला लेकिन बाबर ने खामोशी बरती। आखिरकार तीसरे ओवर की आखिरी गेंद पर सैम करन के खिलाफ बाबर घुटनों पर गए और गेंदबाज के सर के ऊपर से चौके के लिए लॉफ्टेड ड्राइव खेल दिया। इसके बाद चौथे ओवर की दूसरी गेंद पर पॉइंट की दिशा से बाउंड्री वाला दमदार कट शॉर्ट। अब महसूस होने लगा था कि आज बाबर स्ट्राइक रेट पर खड़े किए जा रहे सवालों का जवाब बल्ले से देंगे। इस बीच रिजवान के बल्ले से छक्के आ रहे थे लेकिन बाबर फिर भी सावधानी बरत रहे थे। वह हवा में शॉट खेलकर किसी भी सूरत में अपना विकेट गंवाना नहीं चाहते थे। हालांकि बाउंड्री लगातार लगा रहे थे।

ये भी पढ़ें  शाहीन शाह अफरीदी घुटने की चोट के कारण दूसरे टेस्ट से बाहर

आखिरकार 11वें ओवर की तीसरी गेंद ल्यूक वुड ने बाबर के स्लॉट में डाली। लॉन्गऑन के ऊपर से बेहद आकर्षक छक्का। इस शॉर्ट में सिर्फ और सिर्फ क्लास था। 12वें ओवर की अंतिम गेंद पर सिंगल लेकर बाबर ने अपना अर्धशतक पूरा कर लिया। 15वें ओवर की पांचवीं गेंद आदिल रशीद ने गुगली डाली लेकिन बाबर ने इसे बड़ी आसानी से पढ़ लिया और स्क्वायर लेग के ऊपर से छक्का जड़ दिया। 18वें ओवर की अंतिम गेंद पर हल्के हाथों से खेल कर बाबर ने शतक पूरा किया। हवा में उछल कर चीखते हुए बाबर ने T-20 इंटरनेशनल करियर के दूसरे शतक का जश्न मनाया।

जो औपचारिकता बची थी, वह आखिरी ओवर की तीसरी गेंद पर कवर्स की दिशा में चौका जड़कर बाबर ने पूरी कर दी। स्टेडियम में मौजूद दर्शक अपना आपा खोने लगे थे। किसी को यकीन नहीं आ रहा था कि पाकिस्तान ने इंग्लैंड को इतनी बुरी तरह रौंद दिया है। पर यह हकीकत थी कि पाकिस्तानी क्रिकेट इतिहास का सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज फॉर्म में वापस आ चुका था। वह पवेलियन की तरफ कुछ इस अंदाज में लौट रहा था, मानो हर कदम उसके आलोचकों के लिए करारा तमाचा हो। स्कोरबोर्ड दिखा रहा था… बाबर आजम -110* रन- 66 बॉल- 166 की स्ट्राइक रेट – 5 चौके और 4 छक्के।