कर्नाटक में गरमाया हिजाब का माहौल, 3 दिन के लिए कॉलेज और स्कूल बंद, सियासत हुई तेज

कर्नाटक में गरमाया हिजाब का माहौल, 3 दिन के लिए कॉलेज और स्कूल बंद, सियासत हुई तेज

कर्नाटक का हिजाब विवाद बहुत ज्यादा बढ़ता जा रहा है तूल पकड़ता जा रहा है और इस विवाद के बीच कर्नाटक के एक कॉलेज से ऐसा वीडियो सामने आया है जो इस विवाद को और ज्यादा भड़का सकता है क्योंकि इस वीडियो में कर्नाटक के एक कॉलेज में हिजाब पहने एक छात्रा को कई सारे लड़के घेर रहे हैं। उसके सामने भगवा पहने नारेबाजी कर रहे हैं ।उसे घेरने की कोशिश की जा रही है। उसे डराने की कोशिश कर रहे हैं और सब एक साथ वहां पर जय श्रीराम के नारे लगा रहे हैं।

वहां पर कुछ खड़े शिक्षकों ने उन लड़कों को उस लड़की से अलग किया और उस लड़की को कॉलेज में अंदर जाने दिया लेकिन सवाल यही उठता है आखिरकार हिजाब विवाद अलग है हिजाब पहनना चाहिए मुस्लिम छात्रों को कॉलेजों में जाना चाहिए या नहीं जाना चाहिए हाई कोर्ट में इस मामले में सुनवाई चल रही है यह अलग विवाद है लेकिन जिस तरह एक लड़की को कॉलेज के अंदर कुछ भगवा धारियों ने घेरा उस पर दबाव बनाने की कोशिश की इससे माहौल बहुत ज्यादा खराब हो सकता है।

यह जो छात्र हैं जो एक लड़की को एक तरह से डरा रहे हैं धमका रहे हैं जो कल तक एक क्लास में बैठकर एक लंच बॉक्स में खाना खाते थे एक ही शिक्षा गहन करते थे आज इस समाज में यह जहर कैसे घुलता जा रहा है। जिन छात्रों और छात्राओं में देश का भविष्य दिखाई देता है आज उन छात्रों के हाथों में भगवा और हिजाब दिखाई दे रहा है लेकिन बात यह आती है जिस कपड़े को पहनने की इजाजत उसका संविधान देता है यह उसका एक मौलिक अधिकार है तो इसको क्यों दबाया जा रहा है।

 

इस वीडियो को देखने के बाद यही सवाल उठता है कि क्या यह जायज है। एक तरीके से कुछ लड़के जो मर्दानगी दिखा रहे हैं। उसके सामने जबरदस्ती नारे लगा रहे हैं और यह बताने की कोशिश कर रहे हैं कि हमारी एक तरह से चलेगी। तो क्या यह तरीका ठीक है? यह तरीका इस नए भारत को किस ओर ले जा रहा है इसकी किसी ने भविष्य में कल्पना भी नहीं की होगी।

ये भी पढ़ें  हिजाबी प्रिंसिपल ने नौकरी से  दिया इस्तीफा, जाने क्या है पूरा मामला?

यह विवाद इसलिए भी ज्यादा बढ़ गया है की डीके शिवकुमार कर्नाटक कांग्रेस के अध्यक्ष ने एक ट्वीट करके एक वीडियो भी शेयर किया जिस पर एक कॉलेज में कुछ लड़के तिरंगा हटाकर भगवा झंडा लहराते दिखाई दे रहे हैं। तिरंगे का अपमान किया है कुछ तथाकथित छात्रों ने तो इस वजह से यह विवाद और ज्यादा बढ़ गया है डीके शिवकुमार ने भी अपने टि्वटर हैंडल पर लिखा है कि मामला बहुत ज्यादा तूल पकड़ता जा रहा है अब तो कुछ छात्रों ने तिरंगे झंडे को हटाकर वहां भगवा झंडा लहरा दिया।

आखिरकार हिजाब विवाद किया है कब से शुरू हुआ और क्यों इस पर इतना विवाद हो रहा है यह विवाद अब से कुछ दिनों पहले जनवरी महीने में उडुपी के एक सरकारी कॉलेज में 6 छात्राएं हिजाब पहनकर पहुंच गई थी कॉलेज प्रशासन ने उन्हें 1 तरीके से मना कर दिया था कि आप हिजाब पहनकर नहीं आएंगी वहां से यह हिजाब विवाद शुरू हुआ। देखते-देखते और कॉलेजों में भी इस पर विवाद शुरू होने लगा। इसी बीच एक और खबर सामने आई शिमोगा में एक शख्स झंडे के पोल पर चढ़ा उसने वहां पर तिरंगा झंडा हटा कर भगवा झंडा लहरा दिया जिसके बाद से यह विवाद और ज्यादा बढ़ गया। यह वही शिमोगा है जहां सुबह पत्थरबाजी की भी घटना हुई थी। जिसके बाद वहां पर धारा 144 भी लागू कर दी गई है। और सरकार ने कॉलेजों को यह भी निर्देश दिया है कि अगर उनको लगे कि यहां पर माहौल खराब हो सकता है तो वह कॉलेज को बंद कर सकते हैं।

 

इसी हिजाब विवाद के बीच कर्नाटक सरकार ने कर्नाटक एजुकेशन एक्टर 1983 इसी वजह से अब सभी स्कूल कॉलेजों में यूनिफॉर्म को अनिवार्य कर दिया गया है और इसके तहत सरकारी स्कूल और कॉलेज मैं तो ते यूनिफार्म पहनी ही जाएगी प्राइवेट स्कूल भी अपनी खुद की एक यूनिफार्म सुन सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *