एक छोटी सी गलती और पूरा देश परेशान, भरी जवानी में भूतपूर्व होने की अभूतपूर्व योजना

एक छोटी सी गलती और पूरा देश परेशान, भरी जवानी में भूतपूर्व होने की अभूतपूर्व योजना

नई दिल्ली: आपको बता दें कि मोदी सरकार सेना में भर्ती के लिए एक नई स्कीमलेकर आई है जिसका नाम है। ‘ अग्नि पथ योजना ‘ देश के रक्षा मंत्रालय का एक फरमान और पूरे देश के युवाओं का संग्राम

दरअसल आज देश के अलग-अलग हिस्सों में विरोध प्रदर्शन हुए हैं और यह विरोध प्रदर्शन इस लेवल पर हुए हैं कि कुछ जगहों पर यह प्रदर्शन हिंसक हो गए । जिसमें सरकारी संपत्ति को युवाओं की तरफ से नुकसान पहुंचाया गया। कुछ जगहों पर नेशनल हाईवे जाम किए गए कुछ जगहों पर रेलगाड़ी  जाम की गई तो कुछ जगहों पर ट्रेनें जलाई और गाड़ियां जला दी गई। दिल्ली से जयपुर जाने वाला हाईवे, ग्वालियर रेलवे स्टेशन और बिहार के कई जगहों से विरोध प्रदर्शन में हिंसा देखने को मिली। यह सब प्रदर्शन सेना में भर्ती के लिए जो नई स्कीम आई है। जिसका नाम अग्निपथ ही स्कीम है, उसके विरोध में किए जा रहे हैं।


क्या है अग्निपथ स्कीम?

रक्षा मंत्रालय की तरफ से यह ऐलान किया गया है कि अब सेना में भर्ती होगी लेकिन इस योजना के अंतर्गत सेना में भर्ती परमानेंट नहीं होगी जिस तरह से पहले होती थी। इस योजना के अंतर्गत जवानों को सिर्फ और सिर्फ 4 वर्ष के लिए नौकरी दी जाएगी। इसमें जवानों को जो वेतन दिया जाएगा। वह भी सरकारी मानकों के अनुसार नहीं होगा बल्कि फिक्स वेतन होगा और इस वेतन को लेकर के पूरे देश में एक हंगामा हो गया जो युवा पिछले 4 साल से लगातार सेना में भर्ती की तैयारी कर रहे थे।

उनका गुस्सा सरकार पर फूट पड़ा सरकारी नौकरियां आती हैं टेस्ट होते हैं, मेडिकल होते हैं लेकिन भर्ती नहीं हो पाती हैं। इसी के चलते देश के  बेरोजगार युवा सड़कों पर उतर आए।
हालांकि मोदी सरकार  जब सत्ता में आई तो मोदी जी ने ऐलान किया था कि हमारी सरकार हर साल युवाओं को दो करोड़ सरकारी नौकरी देगी। लेकिन यहां तो उल्टा ही हो गया लोगों को नौकरी मिलने की वजह लोगों की नौकरियां चली जा रही हैं।

ये भी पढ़ें  अर्शदीप दीपक चहार ने बरपाया कहर, तास के पत्तो की तरह बिखर गई SA टीम

जानिए क्या क्या मिलेगा इस योजना में?

बहरहाल रक्षा मंत्रालय की तरफ से यह ऐलान कर दिया गया है की अग्निपथ योजना आ रही है। जिसके तहत सेना में सिर्फ 4 साल के लिए भर्ती होगी। अब अग्निपथ योजना के अंदर नौजवानों को देश की सेना में भर्ती किया जाएगा।

इसमें पहले साल में जवान के लिए ₹30000 की मासिक सैलरी होगी। जिसमें से ₹21000 अकाउंट में आएंगे और ₹9000 ‘ अग्निवीर कॉरपस फंड ‘ में जमा हो जाएंगे । जिसमें ₹9000 सरकार की तरफ से जवान को अंशदान दिया जाएगा। यानी कि आपका फंड ₹18000 हो जाएगा। इसमें से ₹9000 केंद्र सरकार की तरफ से दिए जाएंगे जो केंद्र सरकार की नई स्कीम है।

दूसरे साल में ₹33000 मासिक सैलरी होगी जिसमें से जवान को 23100 अकाउंट में दिए जाएंगे। ₹9900 आपका फ्रेंड काटेगा और ₹9900 ही आपको केंद्र सरकार की तरफ से दिए जाएंगे।

तीसरे साल में ₹36500 जवान की सैलरी होगी। जिसमें से ₹25580 आपके अकाउंट में आएंगे और₹10950 फंड में जाएंगे इसी तरह से इसमें ₹10950 केंद्र सरकार की तरफ से अंशदान दिया जाएगा।

अब चौथे साल में सेना के जवान की सैलरी 40000 होगी जिसमें से ₹28000 अकाउंट में दिए जाएंगे ₹12000 फंड कटेगा और 12  हजार ही केंद्र सरकार की तरफ से दिए जाएंगे

इस तरह से 4 साल के बाद ‘ अग्निवीर कॉरपस फंड ‘ में कुल मिलाकर ₹502000 हो जाएंगे और केंद्र सरकार द्वारा दिए गए अंशदान में भी ₹502000 इकट्ठे हो जाएंगे। आपकी रिटायरमेंट पर दोनों को मिला करके उन पर ब्याज लगा कर जो आपको पैसा मिलेगा वह 11 लाख 71 हजार होगा। यानी जो युवा बेरोजगार हैं। उनको शांत करने का यह एकमात्र तरीका है जिसमें कुछ समय के लिए युवाओं को नौकरी दी जाएगी ।

Related News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *