5 साल बाद मैक्सवेल की फिर खुल गई किस्मत, जानिए कैसे।

5 साल बाद मैक्सवेल की फिर खुल गई किस्मत, जानिए कैसे।

नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के धाकड़ ऑलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल की 5 साल बाद दिली ख्वाहिश पूरी हो गई है दरअसल ग्लेन मैक्सवेल हमेशा से चाहते थे कि वह ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के लिए बैगी ग्रीन कैप पहनकर एक बार फिर से खेलें लेकिन उन्हें ऑस्ट्रेलिया की टेस्ट टीम में खेलने का मौका नहीं मिल रहा था।

मैक्सवेल की टेस्ट टीम में एंट्री

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के मौजूदा श्रीलंका के दौरे पर टीम के सीनियर खिलाड़ियों का घायल होना अब मैक्सवेल के लिए एक अच्छा मौका बन गया है और उन्हें अब ऑस्ट्रेलिया की टेस्ट क्रिकेट टीम में खेलने का दोबारा मौका दिया गया है अब ग्लेन मैक्सवेल सफेद जर्सी पहनकर और बैगी ग्रीन कैप पहनकर ऑस्ट्रेलिया के लिए टेस्ट क्रिकेट खेलते नजर आएंगे। अब सवाल यह है कि कब होगी टीम में वापसी और कब खेलते नजर आएंगे जानिए।

मैक्सवेल मैदान पर कब उतरेंगे

एक कहावत है की किसी का घाटा हुआ तो क्या हुआ किसी का फायदा भी हुआ है श्रीलंका के दौरे पर पहुंची ऑस्ट्रेलिया की टीम के कई सीनियर खिलाड़ी चोटिल होकर बाहर बैठ गए इसी का मौका मिलते ही ग्लेन मैक्सवेल की लॉटरी लग गई है सितंबर 2017 मैं सफेद जर्सी में नजर आने वाले ऑल राउंडर ग्लेन मैक्सवेल की लंबे अंतराल के बाद ऑस्ट्रेलिया के टेस्ट टीम में वापसी हो गई है मैक्सवेल को श्रीलंका के खिलाफ होने वाली टेस्ट सीरीज में टीम में शामिल कर लिया गया है मैक्सवेल को यह मौका एक सपने से कम नहीं लग रहा है लेकिन हैरानी की बात यह है कि मैक्सरेल एक लंबे समय से ऑस्ट्रेलिया के लिए क्रिकेट खेल रहे हैं और उन्हें टेस्ट क्रिकेट में खेलने का मौका नहीं मिल रहा था

मैक्सवेल ने कितने टेस्ट मैच खेले

हैरान करने वाली बात यह है की मैक्सवेल ने अभी तक ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के लिए केवल 7 ही टेस्ट मैच खेले हैं ग्लेन मैक्सवेल नहीं साल 2013 में ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के लिए टेस्ट डेब्यू किया था लेकिन 2017 तक वह सिर्फ साथ ही टेस्ट मैच खेल पाए इस दौरान मैक्सवेल ने भारत के खिलाफ रांची में एक शतक भी जड़ा था लेकिन टेस्ट की जरूरत के हिसाब से उन्हें ज्यादा उपयोगी नहीं समझा गया

ये भी पढ़ें  IPL 2022 में दिखेगा कोहली 2.0 हो जाओ सावधान, कौन है कोहली 2.0 of जानिए?

मैक्सवेल का टेस्ट कैरियर

आपको बता दें कि ग्लेन मैक्सवेल नहीं अपने टेस्ट कैरियर में सात मैचों में केवल 339 रन ही बनाए इस दौरान मैक्सवेल का बेस्ट स्कोर टीम इंडिया के खिलाफ 104 रन का रहा है और टेस्ट क्रिकेट में मैक्सवेल का औसत सिर्फ 26.07 का रहा है हमेशा ऑस्ट्रेलिया के लिए निर्धारित ओवर में खेलने दिखने वाले मैक्सवेल ने भी कुछ ही वक्त पहले दोबारा टेस्ट क्रिकेट खेलने की इच्छा जताई थी और ऑस्ट्रेलिया की टीम का श्रीलंका के दौरे से पहले नए कोच ने मैक्सवेल को टेस्ट टीम का दावेदार भी बताया था। लेकिन मैक्स वेल को श्रीलंकाई दौरे के लिए टेस्ट टीम में जगह नहीं मिली। लेकिन अब इसे मैक्सवेल की किस्मत कहा जाए या दूसरे ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों की बदकिस्मती क्योंकि श्रीलंकाई टीम के खिलाफ सीनियर खिलाड़ियों को अपनी चोट के चलते मैदान से बाहर रहना पड़ेगा और अपनी टीम के हौसले डगआउट से ही बुलंद करने होंगे।

ऑस्ट्रेलिया के घायल खिलाड़ी

ऑस्ट्रेलियाई टीम के घायल खिलाड़ियों की बात करें तो इसमें स्टीव स्मिथ, मिचेल स्टार्क, मिचेल मार्स, ट्रेविस हेड, सीन एबॉट और एश्टन एगर जैसे दिग्गज खिलाड़ियों के नाम शामिल हैं ऑस्ट्रेलियाई टीम को श्रीलंका के खिलाफ दो मैचों की टेस्ट सीरीज खेलनी है दोनों टेस्ट मैच 29 जून से 3 जुलाई और 8 से 12 जुलाई के बीच खेले जाएंगे ऐसे में चयनकर्ताओं ने मैक्स वेल को ऑस्ट्रेलिया की टेस्ट क्रिकेट टीम के लिए चुना है लेकिन मैक्सवेल के सामने यह एक चुनौती भरा समय है क्योंकि अगर मैक्सवेल टेस्ट फॉर्मेट में एक अच्छी परफॉर्मेंस करेंगे तो उन्हें आगे हर फॉर्मेट में खेलने का मौका मिल सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *