धोनी ने विराट में ऐसा क्या देखा की अपने बाद उसे कप्तान बना दिया? जानिए

धोनी ने विराट में ऐसा क्या देखा की अपने बाद उसे कप्तान बना दिया? जानिए

नई दिल्ली: धोनी ने विराट में ऐसा क्या देखा, जो उसे अपने बाद टीम इंडिया का कप्तान बना दिया? यहां तक कि कोहली की जगह रोहित शर्मा को 2011 वर्ल्ड कप टीम में शामिल भी नहीं किया। ये सवाल वर्षों से उठते रहे हैं। इस बीच हिटमैन ने 5 आईपीएल ट्रॉफी जीत लीं तो बीसीसीआई और चयनकर्ताओं ने साजिश करना शुरू किया। विराट को टीम इंडिया की कप्तानी से हटा दिया। माहौल ऐसा बनाया गया कि रोहित आएगा और भारत की किस्मत बदल जाएगी। बड़े टूर्नामेंट में जीत टीम इंडिया के हिस्से आएगी।

बात फरवरी 2019 की है। किंग कोहली के बाद नए कप्तान रोहित की कप्तानी में भुवनेश्वर कुमार वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरा T-20 मुकाबला खेल रहे थे। अपनी ही गेंद पर भुवी एक आसान सा कैच नहीं पकड़ सके। रोहित ने गुस्से में भुवनेश्वर की तरफ बॉल पर जोरदार लात मारी। रोहित का यह अवतार देखकर दंग रह गई थी दुनिया सारी। उसी वक्त समझ आ गया था कि विराट हमेशा विरोधी टीमों के खिलाफ आक्रामक रवैया अपनाता है। पर रोहित अपने बिहेवियर से साथी खिलाड़ियों को ही डराता है।

पाकिस्तान के खिलाफ एशिया कप 2022 में अर्शदीप से कैच छूटने पर हिटमैन रोहित गुस्से से चिल्ला उठा। यह नजारा करोड़ों क्रिकेट प्रेमियों को टीवी स्क्रीन पर दिखा। मैच के अंतिम ओवर में पाक की जीत के लिए सिर्फ 7 रन बचे होने के बावजूद अर्शदीप ने टीम को जिताने के लिए जान लगा दी। समूचे पाकिस्तान की सांसें अटका दीं। आखिरी ओवर में जब अर्शदीप फील्ड प्लेसमेंट को लेकर रोहित से कुछ कहना चाह रहा था तो हिटमैन मुंह घुमा कर चलता बना। ऐसा व्यवहार किसी भी कप्तान को शोभा नहीं देता। कोहली होता तो धैर्य से अर्शदीप की हर बात सुन लेता।

ये भी पढ़ें  Ind vs Wi T20: आखिरी ओवर तक चला रोमांचक मैच, रुकी रही सभी की सांसे, 8 रनों से जीत सीरीज को किया अपने नाम

अब दुनिया को समझ आ रहा है कि महेंद्र सिंह धोनी ने कप्तानी के लिए क्या सोचकर रोहित की जगह विराट को तरजीह दी। माही को पता था कि मुश्किल हालात में हिटमैन टूट कर बिखर जाएगा लेकिन किंग कोहली निखर कर आएगा। जिन लोगों ने विराट को कप्तानी से हटाने के लिए साजिशें रचीं, वे आज मुंह छिपा रहे हैं। एशिया कप में टीम इंडिया को मिली करारी हार के बाद विराट के विरोधी अब कुछ कह नहीं पा रहे हैं।

यह सच है कि विराट ने हमेशा युवा खिलाड़ियों को प्रोत्साहित किया और उन्हें बेस्ट परफॉर्म करने के लिए पूरा मौका दिया। यहां तक कि कई बार यंग प्लेयर्स के लिए अपना बैटिंग पोजिशन भी कुर्बान किया। ऐसा निःस्वार्थ खिलाड़ी सदियों में एक बार आता है। अपनी इसी खूबी के कारण विराट समूची दुनिया में ‘किंग कोहली’ कहलाता है।

किंग कोहली का अपमान
कभी नहीं सहेगा हिंदुस्तान.