क्या से क्या हो गए देखते देखते? जानिए पूरी कहानी

क्या से क्या हो गए देखते देखते? जानिए पूरी कहानी

IPL 2022: ये बात तो हर एक क्रिकेट प्रेमी  जानते है कि आईपीएल के एलिमिनेटर मुकाबले में Lucknow Supergiants. को हार का सामना करना पड़ा। हम इस बात का जिक्र इसलिए कर रहे हैं क्योंकि शुरू से ही लग रहा था कि एलर्जी के टीम आईपीएल की बड़ी दावेदार है । लेकिन चीजें कहां पर बदली? शुरू के 5 से 7 मैचों में एलएसजी बहुत ही अच्छे अंदाज में खेली थी। लेकिन आखिरी के मैचों में एलएसजी की टीम ने उतना अच्छा प्रदर्शन नहीं किया जितना उसको करना चाहिए था और वह पटरी से उतर गई ।

आईपीएल के इस महा मुकाबले में कुछ खिलाड़ियों ने एक विलेन का रोल निभाया। एक अच्छी गेंदबाजी करके और 115 पर चार विकेट होने के बाद 207 स्कोरबोर्ड पर करा दिये। LSG के इन पांच खिलाड़ियों ने अगर हो सके नाखून लिए होते तो लखनऊ को शायद इस महत्वपूर्ण मुकाबले में हार का सामना ना करना पड़ता और एक जीता जीताया मैच ना हार रहे होते।

 कौन-कौन है लखनऊ की हार के 5 बड़े गुनहगार?

Lucknow Supergiants  की हार में सबसे बड़ा हाथ गेंदबाजों का रहा है इनमें सबसे पहला नाम आता है।

1- दुश्मनता चमीरा

इन साहब ने मात्र 4 ओवरों के अंदर 54 रन लुटा दिए। अगर आपका तेज गेंदबाज 4 ओवरों में 54 रन देगा तो सामने वाली टीम 200 के पार  तो स्कोर बना ही देगी।

2 – रवि बिश्नोई

रवि बिश्नोई 4 ओवरों में 45 रन खा गए यानी कि लगभग 11. 25 के औसत से, अगर इतने बड़े मुकाबले में 11.25 के औसत से कोई बोला था ना देगा तो दूसरी टीम तो उसका फायदा उठाएगी। जिसका पूरा पूरा फायदा आरसीबी के बल्लेबाज ने उठाया भी

3 – आवेश खान

आवेश खान की बात करें तो इन्होंने अपने चारा ओवरों में 44 रन दिए और मात्र एक ही विकेट खाती कर पाएं। इन्होंने भी 11 के औसत से रन दिए।

ये भी पढ़ें  डीके ने 2 गेंद में कंगारुओं का खेल खत्म कर दिया  फिनिशर का खिताब अपने नाम कर लिया 

4 – क्विंटन डी कॉक

Lucknow Supergiants  की हार में क्विंटन डे कॉक का भी अहम रोल रहा है इनसे एक अच्छी पारी की उम्मीद की जा रही थी जिस तरह से यह फॉर्म में चल रहे हैं। लेकिन ये मात्र 6 रन बनाकर ही आउट हो गए। अगर यह राहुल के साथ थोड़ी अच्छी शुरुआत दे दिए होते तो लखनऊ के टीम इस इस फॉर को आसानी से हासिल कर लेती।

5 – मार्कस स्टोइनिस

मार्कस स्टोइनिस तो इनसे भी एक कदम आगे निकले । इन्होंने मात्र 9 गेंदों में 9 रन ही बनाए। इनसे उम्मीद तो यह की जा रही थी कि यह केएल राहुल का साथ दें और जिस तरह से यह एक ऑलराउंडर की भूमिका निभाने के लिए टीम में शामिल किया हुआ है इनको चाहिए था कि  9 गेंदों पर  लगभग 18 रन कम से कम बना दे। ताकि लखनऊ की टीम को हारने से बचाया जाए।

एक नजर आरसीबी की टीम पर भी

आरसीबी की सलामी जोड़ी की बात करें तो इनमें फफ डू प्लेसिस शुरू के अवर में ही आउट हो गए। भारत के महान बल्लेबाज विराट कोहली भी बल्ले से कुछ खास कमाल नहीं कर पाए और सस्ते में ही आउट हो गए। इसके बाद रजत पाटीदार में शुरू से ही आक्रामक बल्लेबाजी की और अपनी टीम को धीरे-धीरे करके 115 रन तक ले गए।

RCB के मैक्स वेल भी सस्ते में आउट हुए और दिनेश कार्तिक और रजत पाटीदार में लास्ट के 6 ओवरों में जिस तरह से बैटिंग कि उसने तो Lucknow Supergiants के गेंदबाजों की बखिया उधेड़ कर रख दी। इसमें रजत पाटीदार ने मात्र 49 गेंदो पर 101 रन ठोक डाले और आरसीबी को एक सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचा दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *