पाक बल्लेबाज कामरान अकमल ने उमरान मलिकको लेकर कही बड़ी बात – ‘अगर वो पाकिस्तान में होता तो अब तक.

पाक बल्लेबाज कामरान अकमल ने उमरान मलिकको लेकर कही बड़ी बात – ‘अगर वो पाकिस्तान में होता तो अब तक.

पाकिस्तानी पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज कामरान अकमल का मानना है कि भले ही उमरान मलिक की इकोनॉमी थोड़ी ज्यादा है लेकिन वो अपनी टीम को लगातार ब्रेक थ्रू दिलाकर गेम में अपना प्रभाव छोड़ने में कामयाब रहते हैं.

नई दिल्ली: आपको बता दें कि पाकिस्तान के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज कामरान अकमल (Kamran Akmal) का मानना है कि जम्मू कश्मीर से आने वाले तेज गेंदबाज उमरान मलिक (Umran Malik) अगर पाकिस्तान क्रिकेट का हिस्सा होते तो अब तक वो अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रख चुके होते. उमरान मलिक फिलहाल आईपीएल 2022 (IPL 2022) में सनराइजर्स हैदराबाद  के लिए खेल रहे हैं और अपनी टीम के लिए वो इस सीजन सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाजों में दूसरे स्थान पर मौजूद हैं. युवा पेसर ने अब तक खेले 11 मैचों में 15 विकेट अपने नाम किए हैं.

आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स की ओर से खेल चुके कामरान अकमल साल 2008 की चैंपियन टीम का हिस्सा थे. उनका मानना है कि भले ही मलिक की इकोनॉमी थोड़ी ज्यादा है लेकिन वो अपनी टीम को लगातार ब्रेक थ्रू दिलाकर गेम में अपना प्रभाव छोड़ने में कामयाब रहते हैं. पूर्व क्रिकेटर ने भारतीय क्रिकेट की भी तारीफ करते हुए कहा कि पिछले कुछ सालों में तेज गेंदबाजों के विकल्प पर अच्छा काम हुआ है.

एक पाकिस्तानी यू-ट्यूब चैनल पर इंटरव्यू के दौरान कामरान अकमल ने उमरान मलिक पर बात करते हुए कहा कि, “अगर वो पाकिस्तान में होता तो अब इंटरनेशनल क्रिकेट खेल चुका होता. देखा जाए तो उसकी इकोनॉमी थोड़ी ज्यादा है लेकिन वो एक स्ट्राइक बॉलर है, तो इसलिए उसे विकेट मिलती है. हर मैच के बाद उसका स्पीड चार्ट आता है जिसमें उसने 155 km/h की तेजी से गेंदबाजी की होती है और वो रुक नहीं रहा है. ये अच्छी बात है कि भारतीय टीम में जगह बनाने के लिए प्रतिस्पर्धा कड़ी है.”

ये भी पढ़ें  मलेशिया के इस गेंदबाज  ने नेपाल में रचा इतिहास, एक ही ओवर में झटके 6 विकेट

अकमल का मानना है कि अब भारत के पास भी कुछ तगड़े तेज गेंदबाज है, जो पहले नहीं हुआ करते थे. उन्होंने कहा कि भारतीय सिलेक्टर्स को भविष्य में टीम के लिए खिलाड़ी चुनने में परेशानी होगी. उन्होंने कहा, “पहले भारतीय क्रिकेट में क्वालिटी पेसर्स की कमी थी. लेकिन अब उनके पास तेज गेंदबाजों की एक झुंड है जिसमें नवदीप सैनी, (मोहम्मद) सिराज, (मोहम्मद) शमी, और (जसप्रीत) बुमराह शामिल हैं. यहां तक की उमेश यादव भी अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं. एक साथ 10-12 पेसर्स होने से भारतीय सिलेक्टर्स के लिए टीम सिलेक्शन में मुश्किल होगी.”

कामरान अकमलकी माने तो उमरान मलिक को पूरे आईपीएल सीजन खेलाने की वजह से युवा गेंदबाज के मनोबल में कमाल का इजाफा हुआ है. इसी के साथ ही उन्होंने मलिक की तुलना शोएब अख्तर और ब्रेट ली जैसे महान गेंदबाजों के साथ कर दी.

शोएब अख्तर और ब्रेट ली से की तुलना

अकमल ने कहा, “पिछले सीजन वो सिर्फ एक या दो मैच खेला था. अगर वो पाकिस्तान में होता तो बिलकुल हमारे लिए खेलता. लेकिन भारतीय क्रिकेट ने मलिक को पूरा आईपीएल सीजन खेला कर काफी परिपक्वता दिखाई है. ब्रेट ली और शोएब (अख्तर) भाई भी कभी-कभी काफी महंगे साबित होते थे लेकिन वो विकेट चटकाया करते थे और ऐसा ही एक स्ट्राइक बॉलर को होना चाहिए.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *