यह तीन कमी दूर करते ही टीम इंडिया का एशिया कप पक्का!

यह तीन कमी दूर करते ही टीम इंडिया का एशिया कप पक्का!

Asiacup 2022: अगर भारतीय क्रिकेट टीम को एक बार फिर से एशिया कप का ताज पहना है तो उसको अपनी तीन कमियों को दूर करना होगा। अन्यथा इंडिया को इसका बड़ा खामियाजा भुगतना पड़ सकता है और एशिया कप का जीतने का सपना चूर चूर हो सकता है। इसलिए इन तीनों कमियों को दूर करना बहुत ही जरूरी है। आइए जानते हैं कौन कौन सी वो 3 कमियां है? जो भारतीय टीम को परेशानी में डाल सकती है।

1-केएल राहुल की खराब फॉर्म

केएल राहुल जो कि कुछ समय पहले तक भारतीय टीम के सबसे धाकड़ बल्लेबाज थे। उन पर सवा सौ करोड़ भारतीयों को भरोसा रहता था कि वह अच्छा खेलेंगे। इन दिनों उनका बल्ला बिल्कुल खामोश है। उनके बल्ले से अच्छे रन नहीं आ रहे हैं। एशिया कप के पहले मैच में पाकिस्तान के खिलाफ वो पहली ही बॉल पर आउट हो गए और हांगकांग के खिलाफ भी उन्होंने टेस्ट मैच वाली पारी खेली।

जिसमें उन्होंने 39 बोलों का सामना करते हुए मात्र 16 रन बनाए। उसी पिच पर भारतीय टीम के पूर्व कप्तान विराट कोहली ने नाबाद 59 रनों की पारी खेली और इसी के साथ-साथ सूर्यकुमार यादव ने भी 260 के स्ट्राइक रेट के साथ बल्लेबाजी की, इसी के चलते अब केएल राहुल को या तो ड्राप करना पड़ेगा नहीं तो उनको फ्री हैंड देना पड़ेगा कि भाई आप बड़े स्ट्राइक रेट के साथ खुलकर खेले और बड़े-बड़े शार्ट लगाएं। जिससे भारत की यह सबसे बड़ी कमी दूर हो जाए।

2- तेज गेंदबाजों की पिटाई

पाकिस्तान के खिलाफ अच्छी बॉलिंग करने वाले भारत के पेसर गेंदबाज हांगकांग के खिलाफ बेबस नजर आए। आवेश खान ने 4 ओवरों में 50 से ज्यादा रन दिए जबकि अर्शदीप सिंह ने 40 रन देकर खराब गेंदबाजी का प्रदर्शन किया। दोनों गेंदबाजों की इकोनामी 10 के ऊपर रही। इसमें भुवनेश्वर कुमार अकेले पडते हुए नजर आए। उनको किसी बॉलर का साथ नहीं मिला अगर आने वाले मौकों पर इसी तरह से भुवनेश्वर कुमार अकेले पडते हुए नजर आए तो इसका खामियाजा भारतीय टीम को भुगतना पड़ सकता है।

ये भी पढ़ें  डीके ने 2 गेंद में कंगारुओं का खेल खत्म कर दिया  फिनिशर का खिताब अपने नाम कर लिया 

पाकिस्तान के खिलाफ भी आवेश खान महंगे साबित हुए थे और हांगकांग के खिलाफ भी इसलिए आवेश खान का भी कोई ना कोई तोड़ नहीं करना पड़ेगा या तो उनको बाहर का रास्ता दिखाना पड़ेगा और उनकी जगह पर कोई और दूसरा फास्ट बॉलर खिलाना पड़ेगा। अन्यथा किसी स्पिन गेंदबाज है दीपक हुड्डा या रविचंद्र अश्विन से काम चलाना पड़ेगा।

3- कप्तान रोहित शर्मा का खराब फॉर्म

कप्तान रोहित शर्मा भी इन दिनों अपनी ख़राब फॉर्म से जूझ रहे हैं। रोहित शर्मा ने 2020 के बाद वनडे मैच में कोई शतक नहीं लगाया है। 2021 के बाद टेस्ट मैच में और 2019 के बाद से T20 में कोई शतक नहीं लगा पाए हैं। रोहित शर्मा का फॉर्म काफी खराब चल रहा है। वह बहुत ज्यादा समय तक विकेट पर रुक कर बल्लेबाजी नहीं कर पा रहे हैं। पाकिस्तान के खिलाफ भी वह सस्ते में ही आउट हो गए थे और हांगकांग के खिलाफ भी कोई खास रन नहीं बना पाए।

इसलिए रोहित शर्मा का फॉर्म भी एक चिंता का विषय बना हुआ है क्योंकि केएल राहुल के साथ अगर भारतीय कप्तान भी टीम को अच्छी शुरुआत नहीं दे पाएंगे तो आगे टीम को बड़ा स्कोर खड़ा करने में परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। अगर टीम की नीव ही अच्छी नहीं होगी तो आगे अच्छा स्कोर कैसे बन पाएगा?