इजराइल और गाज़ा पट्टी के विद्रोहियों के बीच संघर्ष, इजराइली हमले में 10 की मौत

इजराइल और गाज़ा पट्टी के विद्रोहियों के बीच संघर्ष, इजराइली हमले में 10 की मौत

नई दिल्ली। दक्षिणी इजराइल पर रॉकेट दागे जाने के बाद इजराइल के जेट विमानों ने शनिवार तड़के गाजा में विद्रोहियों के ठिकानों को निशाना बनाया, जिसमें पांच-वर्षीय एक लड़की और एक विद्रोही सहित कम से कम 10 लोग मारे गए।

फलस्तीनी इस्लामिक जिहाद के एक शीर्ष कमांडर की लक्षित हत्या के बाद शुक्रवार को शुरू हुई लड़ाई पूरी रात जारी रही। इजराइल और फलस्तीन के हमास के बीच 15 वर्षों में चार युद्ध और कई छोटे संघर्ष हुए हैं।

वेस्ट बैंक में एक वरिष्ठ फलस्तीनी विद्रोही की गिरफ्तारी के कारण बढ़े तनाव के बीच इजराइल ने शुक्रवार को गाजा पर हमला किया। वरिष्ठ सदस्य की गिरफ्तारी के बाद हमले की आशंका में इजराइल ने इस सप्ताह की शुरुआत में गाजा के आसपास की सड़कों को बंद कर दिया था और सीमा पर अतिरिक्त जवानों को भेजा था।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस्राईली सेना ने शुक्रवार की शाम एक सैनिक आप्रेशन करते हुए फ़िलिस्तीनी संगठन जेहादे इस्लामी के गाजा पट्टी स्थित ठिकानों पर हमले कर दिए जिसमें अब तक कम से कम 12 फ़िलिस्तीनी शहीद हो चुके है।

मरने वालों में एक 5 साल का बच्चा और तैसीर अलजाबरी नाम का कमांडर शामिल है। इस बमबारी में ज़ायोनी शासन ने जेहादे इस्लामी के ठिकानों और इस संगठन के सदस्यों को निशाना बनाया।

पश्चिमी एशिया के मामलों में संयुक्त राष्ट्र संघ के विशेष दूत टोर वेन्सलैंड ने शनिवार को कहा कि इस्राईली अपराधों के ख़िलाफ़ फ़िलिस्तीनी संगठनों का राकेट हमला बंद होना चाहिए। उन्होंने इस्राईल के हाथों किए जाने वाले नरसंहार को नज़रअंदाज़ करते हुए कहा कि गाजा पट्टी में तनाव बढ़ना ख़तरनाक है।

ये भी पढ़ें  इजराइल और फलस्तीनी विद्रोहियों के बीच गाजा में संघर्ष जारी, अब तक 24 की मौत की पुष्टि