कांग्रेस नेताओं के काले कपड़े पहनने को अमित शाह ने राम मंदिर से जोड़ा

कांग्रेस नेताओं के काले कपड़े पहनने को अमित शाह ने राम मंदिर से जोड़ा

नई दिल्ली। महंगाई और बेरोजगारी के खिलाफ शुक्रवार को कांग्रेस द्वारा किये गए प्रदर्शन में शामिल नेताओं द्वारा काले कपडे पहने जाने को लेकर गृह मंत्री अमित शाह ने आपत्ति जताई है। इतना ही नहीं अमित शाह ने इसे राम मंदिर से भी जोड़ दिया।

शुक्रवार को मंहगाई और बेरोज़गारी के खिलाफ प्रदर्शन में कांग्रेस नेताओं ने न सिर्फ नारेबाजी, मार्च, धरने और बैनर के माध्यम से विरोध जताया बल्कि काले कपड़े पहनकर भी अपना प्रतिरोध व्यक्त किया।

क्या कहा अमित शाह ने:

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस ने आज के दिन काले कपड़े पहनकर विरोध प्रदर्शन किया, जबकि आज ही के दिन पीएम मोदी ने राम जन्मभूमि का शिलान्यास किया था।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस आज प्रदर्शन कर संदेश देना चाहते हैं कि वो राम जन्मभूमि के शिलान्यास का विरोध करते हैं और तुष्टीकरण की नीति को आगे बढ़ाना चाहते हैं।

अमित शाह ने कहा कि एक जिम्मेदार पार्टी होने के नाते कांग्रेस को कानून का सहयोग देना चाहिए। वो रोज प्रदर्शन करते हैं और मेरा मानना है कि कांग्रेस ने आज के विरोध प्रदर्शन से तुष्टीकरण की राजनीति को बढ़ाया है। इतना ही नहीं अमित शाह ने कहा कि प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने आज किसी को तलब नहीं किया, लेकिन फिर भी उन्होंने प्रदर्शन किया।

प्रदर्शन के दौरान राहुल-प्रियंका सहित कांग्रेस नेताओं ने पहने थे काले कपड़े:

गौरतलब है कि कांग्रेस की ओर से आज आयोजित किए गए विरोध-प्रदर्शन के दौरान पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांध काले रंग की हाफ शर्ट पहने हुए थे, वहीं महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने काले रंग की सलवार-कमीज और दुपट्टा पहन रखा था।

ये भी पढ़ें  राहुल गांधी ने नेहरू की डीपी लगाई, दिया बीजेपी को जवाब

राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने काले रंग का कुर्ता और इसी रंग का साफा भी बांध रखा था. लोकसभा में पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी काले रंग की पैंट और शर्ट पहने हुए थे। वहीं, कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल, वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम और दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने काले रंग की शर्ट के साथ ही काले रंग की टोपी भी पहन रखी थी।