महिला एशिया कप : भारत ने अंतिम ग्रुप मैच में थाईलैंड को नौ विकेट से रौंदा

महिला एशिया कप : भारत ने अंतिम ग्रुप मैच में थाईलैंड को नौ विकेट से रौंदा

सिलहट : भारत ने महिला एशिया कप के अपने अंतिम ग्रुप मैच में सोमवार को यहां थाईलैंड को सिर्फ 37 रन पर समेटने के बाद छह ओवर में लक्ष्य हासिल करके सात टीम के ग्रुप लीग चरण में शीर्ष स्थान हासिल किया।

 

भारत की छह मैच में यह पांचवीं जीत है। टीम को एकमात्र हार का सामना चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के खिलाफ कम स्कोर वाले मैच में करना पड़ा था।

 

भारत के छह मैच में 10 अंक हैं और सेमीफाइनल में उसके साथ पाकिस्तान, श्रीलंका और थाईलैंड तथा बांग्लादेश में से किसी एक के जगह बनाने की उम्मीद है।

 

बांग्लादेश का एक मैच बचा है और उसे अंतिम चार में जगह बनाने के लिए इसमें सिर्फ जीत दर्ज करनी होगी क्योंकि उसका नेट रेन रेट थाईलैंड से बेहतर है। बांग्लादेश का नेट रन रेट प्लस 0.423 जबकि थाईलैंड का माइनस 0.949 है।

 

भारत की कार्यवाहक कप्तान स्मृति मंधाना ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया जिसके बाद थाईलैंड की अनुभवहीन बल्लेबाजों को गेंदबाजी की अनुकूल पिच पर रन बनाने के लिए जूझना पड़ा।

 

दोनों टीम के बीच इतना अधिक अंतर था कि थाईलैंड की टीम 16वें ओवर में आउट होने से पहले सिर्फ 37 रन ही बना सकी। थाईलैंड की ओर से सिर्फ नानापट कोनचारोएनकेई (12) की दोहरे अंक में पहुंच सकी। टीम की ओर से दूसरा सर्वश्रेष्ठ स्कोर नताया बूचाथम का रहा जिन्होंने सात रन बनाए।

 

नानापट और नटकान चंथाम (06) के बीच पहले विकेट की 13 रन की साझेदारी टीम की ओर से सर्वश्रेष्ठ साझेदारी रही।

ये भी पढ़ें  'केएल राहुल को नहीं छोड़ सकता ...' : टी 20 विश्व कप में ऋषभ पंत बनाम दक्षिण अफ्रीका के बारे में भारत के बल्लेबाजी कोच का बड़ा संकेत

 

भारत की स्पिन तिकड़ी ने थाईलैंड की बल्लेबाजों को कोई मौका नहीं दिया। आफ स्पिन गेंदबाजों स्नेह राणा (नौ रन पर तीन विकेट) और दीप्ति शर्मा (10 रन पर दो विकेट) तथा बाएं हाथ की स्पिनर राजेश्वरी गायकवाड़ (आठ रन पर दो विकेट) ने रन गति पर भी अंकुश लगाए रखा।

 

मेघना सिंह ने भी एक विकेट चटकाया लेकिन पूजा वस्त्रकार को कोई विकेट नहीं मिला।

 

भारत ने इसके जवाब में सलामी बल्लेबाज एस मेघना (नाबाद 20) और पूजा (नाबाद 12) की पारियों से छह ओवर में एक विकेट पर 40 रन बनाकर जीत दर्ज की। पूजा को बल्लेबाजी क्रम में ऊपर भेजा गया जिससे कि उन्हें बल्लेबाजी का समय मिल सके।

 

स्मृति ने मैच के बाद कहा, ‘‘मेरे 100वें टी20 अंतरराष्ट्रीय को विशेष बनाने के लिए सभी लड़कियों को बधाई।’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘मैं यह नहीं कहूंगी कि विरोधी टीम कमजोर थी। थाईलैंड ने अच्छा क्रिकेट खेला लेकिन हमारी गेंदबाजों ने उन्हें कोई मौका नहीं दिया।’’

 

मैच की सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी चुनी गई स्नेह राणा ने कहा, ‘‘इस तरह की जीत से आत्मविश्वास बढ़ता है और हम निश्चित तौर पर सेमीफाइनल में अच्छा प्रदर्शन करेंगे।’’