IPL 2022: इन तीन बड़े बदलावों के  साथ खेला जाएगा इस बार का आईपीएल

IPL 2022: इन तीन बड़े बदलावों के  साथ खेला जाएगा इस बार का आईपीएल

जैसा कि हम जानते हैं कि आईपीएल 15 को शुरू होने में बहुत ही कम समय बाकी रह गया है। ऐसे में क्रिकेट प्रेमियों के लिए उन नियमों के बारे में जान लेना जरूरी है जो इस बार नए तरीके से आईपीएल में लागू होंगे। क्योंकि 8 की जगह 10 टीमों के साथ खेला जाने वाला आईपीएल बहुत ही रोमांचक तो होगा ही लेकिन इसके साथ खिलाड़ियों के लिए सख्त भी होने वाला है।

यह होंगे नए बदलाव

1 – सख्त बायो बबल में बंधी  होंगी सभी टीमें,

कोरोना की वजह से पिछले दोनों आईपीएल सीजन बहुत ही प्रभावित रहे थे। आपको बता दें कि आईपीएल 13 दुबई में खेला गया था और आईपीएल 14  भी आधा होने के बाद करोना संक्रमण की वजह से  दुबई में ही खेला गया। लेकिन इस बार का आईपीएल बीसीसीआई ने भारत में ही दुबई के मॉडल पर खेलने का फैसला किया है। इस आईपीएल के सभी लीग मैच भारत के 2 बड़े शहरों मुंबई और पुणे में ही खेले जाएंगे। इस बीच सभी की टीमों के खिलाड़ियों को सख्त बार बबल के नियमों का पालन करना होगा। अगर कोई खिलाड़ी बायोकोबल के नियम का उल्लंघन करता है तो उसको 7 दिन के कोरनटाइम में रहना होगा।

खिलाड़ियों की 100% फीस भी काटी जाएगी। दूसरी बार बायो बबल को तोड़ने पर उस पर फीस तो कटेगी ही उस पर एक मैच का बैन भी लगेगा। वहीं तीसरी बार बायो बबल तोड़ने पर खिलाड़ी को पूरे टूर्नामेंट से बाहर होना पड़ेगा और दोषी खिलाड़ी की टीम को दूसरे किसी खिलाड़ी को खिलाने का ऑप्शन भी नहीं मिलेगा। इसके अलावा अगर कोई भी टीम  बीसीसीआई को बिना बताए किसी खिलाड़ी को बायो बबल में जाने मौका देती है तो उस पर पहली बार एक करोड़ का जुर्माना लगेगा दूसरी बार पॉइंट टेबल में 1 अंक भी कटेगा और अगर तीसरी बार कोई गलती होती है तो उस टीम के 2 अंक काटे जाएंगे।

ये भी पढ़ें  IPL 2022: Punjab Kings में आए कई दिग्गज खिलाड़ी, शिखर धवन के साथ कौन कौन शामिल देखिए।

बदलाव नंबर 2 – एक पारी में 02 यानी मैच के दौरान 04 DRS मिलेंगे।

आईपीएल 2021 के आखिर तक कोई भी टीम एक पारी में एक ही डीआरएस ले सकती थी। लेकिन सीजन 15 में एक की जगह पारी में हर टीम को दो-दो डीआरएस मिलेंगे। यानी मैच के दौरान एक टीम चार डीआरएस ले सकती है। इसके साथ ही बीसीसीआई ने एमसीसी के कैच के नियम में भी बदलाव किया है कैच के दौरान आउट होने पर  खिलाड़ी की स्ट्राइक बदली भी नहीं मानी जाएगी और नया बल्लेबाज ही स्ट्राइक पर आएगा। अगर कैच ओवर की आखिरी गेंद पर होता है  तो ही स्ट्राइक बदली हुई मानी जाएगी।

 

बदलाव नंबर 3 – आईपीएल के फॉर्मेट में हुआ बदलाव –

अब तो ग्रुप में बटेंगी टीमें। इस बार के आईपीएल में दो नई टीमों लखनऊ और गुजरात के शामिल होने पर बीसीसीआई के सामने चुनौती थी कि मैचों की संख्या को ज्यादा ना बढ़ाते हुए टूर्नामेंट को कम से कम समय में कैसे खत्म किया जाए। इसी के चलते नए फार्मूले को लागू करते हुए सभी टीमों को दो ग्रुप में बांटा गया है। दरअसल सबसे ज्यादा आईपीएल जीतने  और फाइनल में पहुंचने के आधार पर टीमों की सीडिंग तय हुई है।

इसके आधार पर पांच बार की चैंपियन मुंबई इंडियंस को पहली और चार बार की चैंपियन चेन्नई सुपर किंग को दूसरी सीडीग प्राप्त हुई है। केकेआर तीसरे और हैदराबाद चौथे स्थान पर आई है। 1,3,5 और 7 सीडिंग वाली टीमें  ग्रुप A में और इसी तरह 2, 4, 6 और 8 सीडिंग वाली टीमें ग्रुप B में हैं। इसके अलावा लखनऊ को ग्रुप A और गुजरात को ग्रुप B में रखा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *