भारत दौरे से पहले स्मिथ की फॉर्म को लेकर चिंतित हैं पोंटिंग

भारत दौरे से पहले स्मिथ की फॉर्म को लेकर चिंतित हैं पोंटिंग

नई दिल्ली। अपने जमाने के दिग्गज बल्लेबाज रिकी पोंटिंग अगले साल की शुरुआत में बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के लिए ऑस्ट्रेलिया के बहुप्रतीक्षित भारत दौरे से पहले स्टीव स्मिथ की लचर फॉर्म को लेकर चिंतित हैं लेकिन उन्होंने उम्मीद जताई कि यह स्टार बल्लेबाज जल्द ही बड़े स्कोर बनाने लग जाएगा।

पोंटिंग का मानना ​​है कि स्मिथ की तकनीक में कुछ भी गड़बड़ नहीं है, लेकिन विपक्षी टीमों ने उनकी प्रवाहमय बल्लेबाजी पर अंकुश लगाने के तरीके खोज लिए हैं।

पोंटिंग ने ‘आईसीसी रिव्यू’ में कहा, ‘‘इसे वर्णन करने का सबसे अच्छा तरीका यही है कि स्मिथ की फॉर्म अभी लचर है। उन्होंने निरंतर अच्छा प्रदर्शन किया है और बड़े स्कोर बनाए हैं। उन्होंने एक कैलेंडर वर्ष में चार, पांच या छह शतक लगाए हैं लेकिन पिछले दो वर्षों से वह ऐसा नहीं कर पा रहे हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ मैंने उनके खेल को बेहद करीब से देखा है और मुझे नहीं लगता कि तकनीक के तौर पर उनमें कोई खामी है। मुझे नहीं लगता कि उनकी तकनीक में बहुत बदलाव करने की जरूरत है।’’

पोंटिंग ने कहा, ‘‘ हो सकता है कि विरोधी टीमों ने उन पर अंकुश लगाने का तरीका ढूंढ लिया हो या फिर उन्होंने उनके खिलाफ आक्रामक रवैया अपनाकर उन्हें आउट करने का तरीका ढूंढ लिया है।’’

ऑस्ट्रेलिया को अगले साल फरवरी-मार्च में चार टेस्ट मैचों की श्रृंखला के लिए भारत दौरे पर आना है। यह श्रृंखला विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के 202- 23 के चक्र का हिस्सा होगी। टेस्ट श्रृंखला से पहले ऑस्ट्रेलिया की सीमित ओवरों की टीम तीन टी-20 मैचों की श्रृंखला खेलने के लिए भारत का दौरा करेगी।

ये भी पढ़ें  कभी फी के लिए पैसे नहीं थे। आज हिटमैन के नाम से जाने जाते हैं रोहित शर्मा, जानिए सफलता की कहानी।

इन महत्वपूर्ण श्रृंखलाओं के लिए स्मिथ की फॉर्म ऑस्ट्रेलिया के लिए काफी अहम होगी जो कि विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचने की कवायद में लगा है।

स्मिथ इंग्लैंड में 2019 में खेली गई एशेज श्रृंखला के बाद टेस्ट मैचों में केवल दो शतक ही लगा पाए हैं। उन्होंने इस महीने के शुरू में श्रीलंका के खिलाफ नाबाद 145 रन की पारी खेली थी जो पिछले साल के शुरू में भारत के खिलाफ लगाए गए शतक के बाद उनका पहला सैकड़ा था।

पोंटिंग ने कहा, ‘‘ लेकिन जितना मैं स्टीव को जानता हूं और जिस तरह से वह तैयारी करता है मुझे नहीं लगता कि उसको फॉर्म में लौटने और बड़े स्कोर बनाने में ज्यादा समय लगेगा। ’’