AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) की गाड़ी पर जानलेवा हमला, 3- 4 राउंड फायरिंग, दो गरफ्तार हुआ खुलासा।

AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) की गाड़ी पर जानलेवा हमला, 3- 4 राउंड फायरिंग, दो गरफ्तार हुआ खुलासा।

अभी-अभी एक ऐसी खबर आई है जिसने किसी भी तरह की ऐसी घटना की उम्मीद भी नहीं की थी उत्तर प्रदेश में चुनाव है जुबानी जंग हो रही है तीखी तकरार है लेकिन सियासी संग्राम में बोली की जगह गोली चलेगी यह कौन सोच सकता था और आज यही हुआ।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव (Uttar Pradesh Assembly Elections) में अपने चुनाव प्रचार को खत्म कर दिल्ली लौट रहे AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) की गाड़ी पर कुछ हमलावरों ने हमला कर दिया। असदुद्दीन ओवैसी ने खुद बताया कि 4 राउंड फायरिंग हुई उनके काफिले की गाड़ी कार ड्राइवर ने यह दावा किया है कि 9 राउंड फायरिंग हुए हैं जिस गाड़ी में असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) बैठे थे उसमें 3 गोलियां लगी हैं गाड़ी पर निशान साफ साफ दिखाई दे रहे हैं भाग्यशाली बात यह है की असदुद्दीन ओवैसी को कोई नुकसान नहीं हुआ है।

ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने कहा है वही की गाड़ी पर जिन दो लोगों ने हमला किया उनमें से एक पकड़ा गया है और वह मौके पर हथियार छोड़कर भाग गए हैं लेकिन कुछ देर बाद यह भी जानकारी मिली के एक हत्यारे ने अपने आपको थाने में सरेंडर कर दिया एक का नाम सचिन और दूसरे का नाम शुभम बताया जा रहा है इनमें से एक नोएडा का रहने वाला है और एक सहारनपुर का। आईजी और तमाम बड़े अफसर मौके पर पहुंच गए थे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूरी घटना का ब्यौरा लिया है उन्होंने अधिकारियों को जल्द से जल्द पूरी साजिश का पर्दाफाश करने के निर्देश दिया हैं।

लेकिन सवाल यह है कि हमला करने वाले कौन थे? क्या वह किसी संगठन से जुड़े हैं? हमले का मकसद क्या था? क्या यह कोई सियासी साजिश थी? चुनाव से जुड़ा मसला था? या इसके पीछे कोई और वजह थी। लेकिन सूत्रों के हवाले से जो पता चला है उससे यह लगता है कि ओवैसी पर पूरी प्लानिंग के साथ हमला किया गया है। हमला करने वालों को पूरे रूप की जानकारी थी. वह ओवैसी की गाड़ी को फॉलो कर रहे थे गाड़ी को ओवरटेक करने की कोशिश कर रहे थे. हमलावरों को मालूम था कि (Asaduddin Owaisi) किस गाड़ी में है. उन्होंने उसी गाड़ी पर फायरिंग की हमलावरों को पता था कि टोल पर गाड़ी धीमी हो जाएगी निशाना लगाने में आसानी होगी इसलिए पिलखवा के छजारसी टोल प्लाजा पर हमले को अंजाम दिया गया।

यह अच्छी बात है कि आसुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) के काफिले में शामिल उनके पीछे वाले ड्राइवर ने सूझबूझ दिखाई और फायरिंग करने वाले शख्स पर गाड़ी चढ़ा दी जिससे वह गिर गया उसके पैर में भी चोट आई और हथियार समेत पकड़ा गया। क्योंकि फायरिंग के बाद वहां हंगामा हो गया ओवैसी (Owaisi) ने वहां रुकना ठीक नहीं समझा क्योंकि उन्हें शक था भीड़ में और भी हमलावर हो सकते हैं इसलिए असदउद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) दूसरी गाड़ी से वहां से निकल गए दिल्ली में अपने घर पहुंचने के बाद ओवैसी (Owaisi) ने पूरी घटना सिलसिलेवार तरीके से बताई।

ये भी पढ़ें  केजरीवाल ने बढ़ाई मोदी टेंशन, सर्वे ने उड़ाई नींद

घर जाकर उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल से यह जानकारी सोशल मीडिया पर शेयर की जिससे जानकारी मिलते ही एक हड़कंप सा मच गया और सभी को यह जानने की होड़ लग गई कि आखिरकार घटना कैसे हुई इसी पर प्रतिक्रिया देते हुए उनके सांसद इम्तियाज जलील का बड़ा बयान आया है उन्होंने कहा है कि ऐसे हमले उन पर पहले भी होते रहे हैं कभी उनके घर पर तो कभी उनको मारने की धमकी दी जाती है लेकिन यदि यह गोली उनको लग जाती तो क्या हाल होता उन्होंने सरकार को गिरते हुए कड़ी नाराजगी जाहिर की है और इस घटना को अंजाम देने वालों के साथ सख्ती से निपटने को भी कहा है। असदउद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) इसके पीछे जो वजह बताई है वह वाराणसी में हुई धर्म संसद और दास ने से मिली उनको गर्दन काटने की धमकी के साथ भी जोड़ा जा रहा है।

इसके आगे असदउद्दीनओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने यह भी कहा है कि यह एक भारत के संविधान पर हमला है और यह एक लोकतंत्र के खिलाफ बड़ा षड्यंत्र है उन्होंने कहां है कि यह जरूर कोई नाथूराम गोडसे की नाजायज औलाद है जिन्होंने इस घटना को अंजाम दिया है। की शिकायत उन्होंने पुलिस को की है इसी पर डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य का भी बड़ा बयान आया है कि यदि किसी ने ऐसी हरकत की है तो वह बदमाश जरूर पकड़े जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *