रोहित शर्मा ने IPL के इतिहास में सबसे ज्यादा 19वां मैन ऑफ द मैच का खिताब जीत..

रोहित शर्मा ने IPL के इतिहास में सबसे ज्यादा 19वां मैन ऑफ द मैच का खिताब जीत..

रोहित शर्मा ने IPL के इतिहास में सबसे ज्यादा 19वां मैन ऑफ द मैच का खिताब जीत लिया। दूसरे मुकाबले में मिली करारी शिकस्त के बाद हिटमैन ने साफ किया , कि सीनियर खिलाड़ियों को जिम्मेदारी लेनी होगी और शुरुआत उन्हें खुद से करनी होगी। रोहित शर्मा अपनी बातों पर खरे उतरे। उन्होंने DC के खिलाफ 45 गेंद पर 6 चौकों और 4 छक्कों की मदद से तूफानी 65 रन बनाए। दिल्ली ने मुंबई के सामने जीत के लिए 20 ओवर में 173 रनों का टारगेट रखा था। बगैर ठोस शुरुआत के इस लक्ष्य तक पहुंच पाना मुश्किल नजर आ रहा था।

हिटमैन ने मुकेश कुमार के पहले ओवर की तीसरी गेंद को मिडऑन के दिशा में प्योर टाइमिंग के बूते फ्लिक कर पहला चौका हासिल किया। अगली गेंद पर रोहित डाउन द ट्रैक आए और गेंद को डीप मिडविकेट की दिशा में पुल कर 88 मीटर का छक्का अपने नाम कर लिया। इस शॉट में विंटेज रोहित नजर आए। अंतिम गेंद आउटसाइड ऑफ थी और रोहित ने इसे मिडऑफ के बगल से 4 रन के लिए भेज दिया। मुंबई की टीम को पहले ओवर से 14 रन मिल गए।

एनरिक नॉर्त्या के तीसरे ओवर की पांचवीं गेंद पिच्ड अप थी और अंदर की तरफ स्विंग कर रही थी। रोहित ने फ्रंट फुट एक्रॉस लाते हुए गेंद को वाइडर लॉन्गऑन के ऊपर से छक्के के लिए भेज दिया। ओवर की अंतिम गेंद 147 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार के साथ हार्ड लेंथ बॉल थी। गेंद बैकवर्ड पॉइंट की दिशा में चौके के लिए चली गई।

अक्षर पटेल के पांचवें ओवर की अंतिम गेंद पर रिवर्स स्वीप के जरिए चौका हासिल कर रोहित ने दिखा दिया कि आज वह किसी के रोके नहीं रुकेंगे। ललित यादव ने पावरप्ले की अंतिम गेंद हिटमैन के सामने शॉर्ट पिच डालने की गलती कर दी। पलक झपकते ही डीप बैकवर्ड स्क्वायर लेग बाउंड्री के बाहर गगनचुंबी छक्का आ चुका था। रोहित के सामने अगर आप शॉर्ट पिच बॉलिंग करेंगे, तो वह सारी जिंदगी आपको एफर्टलेस छक्के मार सकते हैं। 8वें ओवर में ईशान किशन के तौर पर 71 के कुल योग पर मुंबई को पहला झटका लगा लेकिन रोहित को इससे कोई खास फर्क नहीं पड़ा।

ये भी पढ़ें  भारत vs पाकिस्तान टी20 विश्व कप मौसम पूर्वानुमान : मेलबर्न में IND vs PAK मुकाबले के दौरान 90 प्रतिशत बारिश की संभावना

नवें ओवर की अंतिम गेंद पर एनरिक नॉर्त्या ने हिटमैन को शॉर्ट गेंद डालने की गलती की और नतीजा वही डीप बैकवर्ड स्क्वायर लेग बाउंड्री के ऊपर से छक्का। चाहे ललित यादव हों या एनरिक नॉर्त्या, रोहित शॉर्ट पिच गेंद पर छक्के मारने में किसी तरह का भेदभाव नहीं करते।

रोहित जिस वक्त आउट हुए, वहां से मुंबई को जीत के लिए 19 गेंद पर सिर्फ 30 रनों की आवश्यकता थी। हिटमैन ने ईशान किशन के साथ पहले विकेट के लिए 45 गेंद पर 71 रन जोड़े। दूसरे विकेट के लिए तिलक वर्मा के साथ 50 गेंद पर 68 रनों की महत्वपूर्ण पार्टनरशिप बनाई। मुंबई आसानी से जीत हासिल कर रही थी, हालांकि अंतिम ओवर में अपनी एक्स्ट्राऑर्डिनरी पेस के बूते कंगारू बल्लेबाज कैमरन ग्रीन और टिम डेविड के लिए जरूर परेशानियां खड़ी कर दीं।

पर रोहित शर्मा ने नींव ही इतनी मजबूत डाल दी थी, जहां से मुंबई का यह मुकाबला हारना लगभग नामुमकिन था। जिस तरह रोहित ने हार के बाद कहा था कि सीनियर खिलाड़ियों को जिम्मेदारी लेनी होगी, वह अपनी जुबान पर खरे उतरे। वर्ल्ड कप वाले साल में रोहित का प्रचंड फॉर्म में वापस आना टीम इंडिया के लिए बड़ी खुशखबरी है।