बांग्लादेश के खिलाफ भारत का टूटा भ्र्म! भारत 5 रनों से मुकाबला हार गया.

बांग्लादेश के खिलाफ भारत का टूटा भ्र्म! भारत 5 रनों से मुकाबला हार गया.

Ind vs Bng ODI  MATCH:  बांग्लादेश के खिलाफ भारत का मस्ट विन गेम। भारत 5 रनों से मुकाबला हार गया है और इस तरह से बांग्लादेश ने सीरीज 2-0 से अपने नाम कर ली है। स्कोरकार्ड देखकर ऐसा लगेगा कि भारत ने रनचेज में बिल्कुल भी कोशिश नहीं की। पर यह मैच कप्तान रोहित शर्मा की जिंदादिली के लिए याद रखा जाएगा। दर्द से तड़पते हुए भी हिटमैन बल्लेबाजी करने के लिए आए और हार के मुंह से जीत छीन लाने की भरपूर कोशिश की। रोहित ने 28 गेंदों पर 3 चौकों और 5 छक्कों की मदद से 51* रन जड़ दिए। अगर अंतिम गेंद पर छक्का लग जाता तो भारत मुकाबला जीत जाता।

उम्मीद के विपरीत बांग्लादेश ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला कर लिया। भारत ने गेंदबाजी में शानदार शुरुआत की। एक वक्त को तो ऐसा हो गया था कि मानो बांग्लादेश 100 रनों का आंकड़ा भी नहीं छू सकेगा। मोहम्मद सिराज और उमरान मलिक लगातार अच्छी गेंदबाजी कर रहे थे। ओपनर अनामुल लगातार सिराज के खिलाफ बड़े शॉट्स खेलना चाह रहे थे। उन्होंने 2 बाउंड्री लगा भी दी लेकिन बाकी सब गेंदें ऑफस्टंप से बाहर की तरफ निकालने के बाद अचानक सिराज ने 1 गेंद इनस्विंगर डाल दी। दूसरे ओवर की 5वीं गेंद पर अनामुल LBW आउट।

बांग्लादेश को 11 के स्कोर पर पहला झटका लगा और फिर 10वें ओवर में सिराज ने कप्तान लिटन दास को भी बोल्ड मार दिया। बांग्लादेशी बल्लेबाज थोड़ी सांस ले पाते, इसके पहले 14वें ओवर की पहली गेंद पर उमरान मलिक ने 151 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से शंटो का ऑफ स्टंप उखाड़ दिया। यहां से लगने लगा कि मुकाबला अपना है। रही सही कसर वाशिंगटन सुंदर ने 17वें ओवर की अंतिम गेंद पर पूरी कर दी। ऑफ स्पिन के खिलाफ शाकिब अल हसन संघर्ष करते नजर आ रहे हैं। फ्लाइटेड डिलीवरी राउंड द विकेट पर शाकिब ने स्लॉग स्वीप खेलने का प्रयास किया। टॉप एज हवा में और शॉर्ट थर्ड मैन की दिशा में शिखर के हाथों कैच। 66 के स्कोर पर बांग्लादेश को चौथा झटका लग चुका था।

फिर 19वें ओवर की पांचवीं गेंद पर पहले मुशफिकुर रहीम और अंतिम बॉल पर ऑलराउंडर आफिफ हुसैन भी पवेलियन लौट गए। रहीम के खिलाफ सुंदर ने जानबूझकर लेग स्लिप ली थी। यह गेंद आउटसाइड ऑफ स्टंप फुल लेंथ की थी। एक्स्ट्रा बाउंस के कारण डिफेंड करने गए मुशफिकुर रहीम के बल्ले का किनारा लगा और लेग स्लिप में कैच पकड़ लिया गया। आफिफ हुसैन ने आते ही पहली गेंद पर कट शॉट खेलने का प्रयास किया और तेज स्लाइडर पर क्लीन बोल्ड हो गए। अब मामला था कुल मिलाकर 19 ओवर ….69 रन … और 6 विकेट!

इसके बाद हुई बांग्लादेश के तरफ से भारत के खिलाफ वनडे में सबसे बड़ी पार्टनरशिप। देखते-देखते महम्मदुल्लाह और पहले मुकाबले के हीरो मेहदी हसन मिराज ने 148 रन जोड़ दिए। इससे पहले सबसे बड़ी साझेदारी 133 रनों की थी। जब बाकी तमाम गेंदबाज इन दोनों को रोक पाने में नाकाम रहे, इसके बावजूद उस वक्त दीपक चाहर को बॉलिंग नहीं दी गई। दीपक गेंदों को अंदर और बाहर की तरफ स्विंग कराने में माहिर माने जाते हैं। 77 के निजी स्कोर पर महमूदुल्लाह को उमरान मलिक ने आउट किया। पर देखते-देखते आठवें नंबर के पुछल्ले बल्लेबाज माने जाने वाले मेहंदी हसन ने अपने करियर का पहला वनडे शतक जड़ दिया। उन्होंने 83 गेंदों पर आठ चौकों और चार छक्कों की मदद से नाबाद 100 रन बनाए।

ये भी पढ़ें  क्या से क्या हो गए देखते देखते? जानिए पूरी कहानी

जो बांग्लादेश 100 रन तक भी नहीं पहुंचना चाहिए था, उसने भारत के सामने जीत के लिए 50 ओवरों में 272 का टारगेट रख दिया। कप्तान रोहित फील्डिंग के दौरान चोटिल हो गए थे। बदले में विराट और शिखर ओपनिंग करने आए। दूसरे ओवर की पांचवीं गेंद पर विराट कोहली ने इबादत हुसैन के खिलाफ मिडविकेट की दिशा में पुल शॉट खेलने का प्रयास किया। बल्ले का निचला किनारा और गेंद विकेट पर। विराट 5 रन बनाकर वापस पैवेलियन लौट चुके थे। अनुभवी बल्लेबाज शिखर धवन से उम्मीद थी कि वह परिस्थिति समझेंगे और बड़ी पारी खेलेंगे लेकिन मुस्तफिजुर रहमान की शॉर्ट बॉल उन तक उम्मीद से अधिक तेजी से पहुंच गई। बैकवर्ड पॉइंट फील्डर के हाथों 8 के निजी स्कोर पर कैच थमा कर शिखर वापस लौट गए।

नाइट वॉचमैन के तौर पर प्रमोट किए गए वाशिंगटन सुंदर कुछ खास नहीं कर सके और 11 रन बनाकर शाकिब का शिकार बने। 28 गेंदों पर 14 रन बनाकर खेल रहे केएल राहुल को मेहदी हसन मिराज ने LBW कर दिया। यहां से श्रेयस अय्यर ने अकेले मोर्चा संभाला। उनको अक्षर पटेल का भी भरपूर साथ मिला। दोनों ने मिलकर 107 रनों की पार्टनरशिप कर दी। यहां से लगा कि भारत मुकाबले में वापस आ चुका है लेकिन तभी 34वें ओवर की अंतिम गेंद पर श्रेयस अय्यर आउट हो गए।

मेहदी हसन मिराज ने आउटसाइड ऑफ फुल लेंथ की गेंद डाल दी। श्रेयस ने डीप मिडविकेट की दिशा में छक्का मारने का प्रयास किया लेकिन वहीं पर फील्डर के हाथों कैच थमा बैठे। इधर श्रेयस वापस लौटे और उधर 39वें ओवर की दूसरी गेंद इबादत हुसैन ने 56 रन बनाकर बल्लेबाजी कर रहे अक्षर पटेल को हार्ड लेंथ की डाल दी। अक्षर आगे बढ़कर कवर के ऊपर से शॉट खेलना चाह रहे थे लेकिन रूम के लिए क्रैंप हो गए। शॉर्ट कवर के हाथों कैच। क्रिकेट को अनिश्चितताओं का खेल क्यों बोलते हैं, वह इन 2 विकेट के बाद समझ आ रहा था। अंतिम 60 गेंदों पर भारत को जीत के लिए 79 रनों की दरकार थी। शार्दुल ठाकुर और दीपक चाहर की जोड़ी मैदान पर मौजूद थी।

फिर पहले 207 के स्कोर पर शार्दुल और फिर 213 के स्कोर पर दीपक चलते बने। मजबूरी में कप्तान रोहित शर्मा को बल्लेबाजी के लिए आना पड़ा। हिटमैन ने अपनी तरफ से भरपूर कोशिश की। वह 28 गेंदों पर 51 रन बनाकर नाबाद रहे लेकिन टीम को जीत की दहलीज तक नहीं पहुंचा सके।